2 सिद्ध क्षेत्रों, एक अतिशय क्षेत्र सहित 5 स्थानों पर होंगी 10 दीक्षाएं

label_importantसमाचार
  • मोक्ष सप्तमी 4 अगस्त को

न्यूज सैजन्य- राजेश पंचोलिया इंदौर

इंदौर। 4 अगस्त को श्री 1008 भगवान श्री पार्श्वनाथ जी का मोक्ष कल्याणक दिवस है। यह दिवस वर्तमान परिवेश में इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि देश के राज्यों के अनेक नगरों में धर्मात्मा, पुण्यात्मा, भव्य जीव मनुष्य पर्याय की सर्वोत्तम राह पर अग्रसर हो रहे हैं।

वात्सल्य वारिधि पंचम पट्टाधीश आचार्य श्री वर्द्धमान सागर जी अपना संयम वर्ष का 54वां चार्तुमास मुनि दीक्षा स्थली श्री महावीर जी अतिशय क्षेत्र पर कर महती धर्म प्रभावना कर रहे हैं। 4 अगस्त को इन आचार्य भगवंत के कर-कमलों से 2 भव्य जीव दीक्षा ग्रहणकर जीवन को धन्य करेंगे। 79 वर्षीय श्रीमति धीसी देवी पति स्व. श्री चिरंजीलाल ठोलिया जोबनेर तथा 74 वर्षीय श्री भगवानी देवी जयपुरिया सीकर की दीक्षा श्रीमहावीरजी में होगी। उल्लेखनीय है कि श्रीमति धीसी देवी के पुत्र श्री विशाल सागर जी तथा पुत्रवधु भी आर्यिका श्री विचक्षणमति माताजी वर्ष 2015 किशनगढ़ में वात्सल्य वारिधि आचार्य श्री वर्द्धमान सागर जी महाराज से दीक्षित होकर संघस्थ हैं। जोबनेर से यह पंचम पट्टाधीश के कर-कमलों से 5वीं दीक्षा होगी। इसके पूर्व पूज्य मुनि श्री सहिष्णु सागर जी तथा पूज्य मुनि श्री प्रभव सागर जी ने भी आचार्य श्री से दीक्षा ली है।

चतुर्थ पट्टाधीश आचार्य श्री अजित सागर जी के दीक्षित शिष्य मुनि श्री पुण्य सागर जी द्वारा सिद्ध क्षेत्र श्री सम्मेद शिखर जी में 4 अगस्त को 2 दीक्षाएं दी जाएंगी जिसमें श्रीपाल जी गंगवाल महाराष्ट्र तथा सुप्रसिद्ध विद्वान जैन गजट के प्रधान संपादक श्री भरत जी काला मुम्बई भी दीक्षा लेकर जीवन को धन्य करेंगे।

वहीं जयपुर में चतुर्थ पट्टाचार्य आचार्य श्री सुनील सागर जी का चातुर्मास हो रहा है। आचार्य श्री भी 4 अगस्त को 4 दीक्षाएं देंगे। क्षुल्लक श्री सम्बरध सागर जी, श्री विनोद भैया भीलवाड़ा, ,श्री अनुभव भैया सागर तथा श्री विकास भैया ललितपुर कुल 4 मुनि दीक्षा होंगी। सिद्ध क्षेत्र श्री मांगीतुंगी जी में भी 4 अगस्त को श्रीमती धुरीदेवी फंदोत मलाड मुम्बई की क्षुल्लिका दीक्षा आचार्य श्री तीर्थ नंदी जी द्वारा होगी। कोल्हापुर के वलिवडे में श्रीमती होशक्का जिनगोड़ा पाटिल हेरले की क्षुल्लिका दीक्षा आचार्य श्री चंद्रप्रभ सागर जी द्वारा भी 4 अगस्त को होगी। पोस्टरों के आधार पर यह संकलित जानकारी है। राजेश पंचोलिया इंदौर और अभिषेक लुहाड़िया रामगंजमंडी ने बताया कि देश के अन्य नगरों में इसी दिन और भी दीक्षाएं हो सकती हैं।

Related Posts

Menu