आज की चैतन्य नीति

label_importantचैतन्य नीति

जिस प्रकार समुद्र को पार करने में नाव की जरूरत होती है, उसी प्रकार स्वर्ग के लिए सत्य ही एकमात्र सीढ़ी है।

Related Posts

Menu