दीक्षा महोत्सव में हुए कई धार्मिक आयोजन

label_importantसमाचार

बांसवाड़ा । सात दिवसीय दीक्षा महोत्सव के पांचवे  दिन मोहन कॉलोनी में विविध धार्मिक आयोजन हुए। इस  दौरान दीक्षार्थियों ने आचार्य सुंदर सागरजी महाराज, आचार्य विभव सागरजी महाराज, आचार्य सुवीर सागरजी महाराज, आचार्य अनुभव सागरजी महाराज का  दूध आदि द्रव्य से पाद प्रक्षालन और अष्ट द्रव्य से पूजन किया। दीक्षार्थी बहन रीता दीदी, पूजा दीदी, सुरभि दीदी, लक्ष्मी दीदी, रश्मि दीदी ने मंच पर विराजमान 70 पिच्छीधारी संतो को अर्घ्य समर्पित किये और  गुरुपूजन  कर अपने कर्तव्य को पूर्ण किया।
इससे पूर्व सुबह प्रतिदिन की तरह भगवान का पंचामृत अभिषेक, शांतिधारा समाजजन और दीदियों द्वारा की गई । आचार्य सुन्दर सागरजी महाराज, आचार्य विभव सागर जी महाराज और आचार्य अनुभव सागर जी महाराज ने धर्मसभा को संबोधित किया।
दोपहर के दीक्षार्थी बहनों का मंगल स्नान धर्म के माता पिता बने श्रावकों के यहां हुआ।  जहां पर उन्हें दूध, हल्दी, जल आदि द्रव्य से मंगल स्नान करवाया गया।  आचार्य समता सागर महाराज का शाम 5 बजे मोहन कॉलोनी में मंगल प्रवेश हुआ जहां पर आचार्य संघ और  समाजजनों ने उनकी अगवानी की।

महामंत्री मनोज जैन ने बताया कि रात्रि में गांधी मूर्ति से दीक्षार्थी बहनों की शोभायात्रा निकाली गई। समाजजनों ने धार्मिक भजनों पर नृत्य किए और जिनेन्द्र भगवान, आचार्य भगवंतों के जयकारे लगाते रहे। शोभायात्रा में दीदियों बग्गियों बैठी थी और समाज के स्त्री-पुरुष,  बच्चे  बैण्ड बाजे की धुन में  झूमते गाते पैदल चल रहे थे ।

गणधय विलय और विक्की डी पारीक की भजन संध्या आज
आज: 9 दिसम्बर को दीक्षा का मुख्य कार्यक्रम  गणधर वलय दीक्षार्थी बहनों द्वारा किया जाएगा । दोपहर 2 बजे उपस्थित आचार्य संघ का अभिनंदन समारोह आयोजित किया जाएगा। इसमें  आचार्य श्री सुंदर सागर जी महाराज एवं समाज के श्रेष्ठी लोगों को शास्त्र आदि भेंट किये जायेंगे। वहीं रात्रि   8 बजे भजन सम्राट विक्की डी पारीक की भजन संध्या का कार्यक्रम आयोजित होगा।

Related Posts

Menu