घर से बनाई अपनी पहचान : जीवन में कुछ कर गुज़रने की चाह ने बढ़ाया हौंसला, नौकरी छोड़ किया अपना काम शुरु

label_importantसमाचार

श्रीफल न्यूज के लिए राजस्थान से प्रिया व्यास की रिपोर्ट

जयपुर ,राजस्थान । हर किसी की चाह होती हैं जीवन में एक ख़ास मुकाम हासिल करने की। कुछ ऐसा करने की जिससे आपको पहचान मिलें। कुछ समय पहले तक यह माना जाता था कि बिजनेस करना महिलाओं के बस की बात नहीं है मिथकों को दूर करते हुए भारत के अलग अलग राज्यों की ऐसी कई महिलाएं हैं, जो एक सफल बिजनेस चला रही हैं और दूसरी महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन भी हैं। अब अन्य कई महिलाएं प्रेरित होकर अपना खुद का स्टार्टअप शुरू कर रही हैं। राजस्थान की ऐसी महिलाओं के बारे में पढ़ें जिन्होंने न केवल बिजनेस में हाथ आजमाया, बल्कि एक नई ऊंचाइयों को छुआ।

 

नवाचार से किया चैलेंज का सामना



जयपुर की अदिती सेठी बताती है की उन्होंने फैशन डिजाइनिंग का कोर्स किया है। वह पहले एक्सपोर्ट हाउस में सीनियर मर्चेंट और डिजाइनर थीं, लेकिन जॉब के चलते अपने और फैमेली लिए समय नहीं निकाल पाने के कारण जॉब छोड़ दिया। बाद में घर से ही खुद का बिजनेस शुरू करने का प्लान बनाया और गारमेंट्स की ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से सेलिंग शुरू की। कपड़े के बिजनेस में चैलेंज को देखते हुए नवाचार किए। जैसे कुर्तियों के साथ मैचिंग के फैब्रिक के इयररिंग्स डिजाइन करना। वेस्ट मैटेरियल से मैचिंग के दूसरे प्रोडक्ट तैयार करना आदि। यह कॉन्सेप्ट सभी को पसंद आने लगा और बल्क में ऑर्डर मिलने लगे। अलग अलग शहरों से ऑर्डर मिलने लगे तो गारमेंट्स बनाने में बचे वेस्ट मटेरियल से हैंडीक्राफ्ट आइटम बनाना शुरू किया। एग्ज़ीबिशन के माध्यम से इनकी डिमांड भी अब बढ़ने लगी है। आज 50 से ज्यादा हैंडमेड आइटम्स तैयार करवा रही अदिति बताती हैं कि एक साल में जो रिस्पॉन्स मिला उसके चलते दूसरी महिलाओं को रोजगार देना संभव हो सका है। इस पूरे प्रयास में उनकी फ्रेंड सोनिया भी पूरा योगदान दे रही हैं। दोनों मिलकर इस काम को योजनाबद्ध तरीके से आगे बढ़ा रही हैं।


वीडियो के लिए यहां क्लिक करें
आईटी जॉब छोड़ कर बैंगल्स डिजाइन करने से शुरू किया काम



जयपुर से आकांक्षा जैन बताती है मैंने 8 साल पहले आईटी जॉब छोड़ कर अपना बिजनेस करने का तय किया। घर पर फ्री नहीं रहना था तो मैंने पहले किशनगढ़ से ही रिसेलिंग का काम शुरु किया। फिर लगा कि मैं अपना काम शुरु कर सकती हूं। मैंने हैंडमेड बैंगल्स डिजाइन करना शुरू किया और फेसबुक, इंस्टा सोशल मीडिया पर कंगन नाम से पेज बनाकर सेल करने लगी। जब अलग अलग शहरों से अच्छा रिस्पॉन्स मिलने लगा तो मैंने एग्ज़ीबिशन में स्टॉल लगाएं। तभी से मेरे बिजनेस को बुस्टअप मिला। अब बैंगल्स के साथ ही होम डेकोर, दिवाली डेकोर आइटम, क्राफ्ट और हैम्पर्स का काम कर रही हूं। साथ ही आकांक्षा बताती है जॉब छोड़ने के 4 दिन बाद ही अपना काम शुरु कर दिया था।


प्रोडक्ट रिसेलिंग से शुरू किया, आज एग्जीबिशन के ज़रिए अलग अलग शहर के एक्जीबिटर्स को दे रही प्लेटफॉर्म






किशनगढ़ से ममता जैन बताती है मैंने अपनी पहचान बनाने और समय का सदुपयोग करते हुए 4 साल पहले घर से ही अपना प्रोडक्ट रिसेलिंग का ऑनलाइन काम शुरू किया था जिसमें क्लोदिंग, होम डेकोर, दिवाली स्टफ सभी शामिल थे। फिर एग्ज़ीबिशन में स्टॉल लगाया तब लगा कि हम यह क्यों नहीं कर सकते। फिर मैंने किशनगढ़ में एग्ज़ीबिशन लगाना शुरू किया। साल में तीन बार उत्सव संगिनी लाइफस्टाइल एग्जीबिशन लगाती हूं जिसमें अलग अलग राज्यों के एक्जीबिटर्स अपना कनेक्शन लेकर आते है। कई एक्जीबिटर्स ऐसे है जिन्हें अपना कनेक्शन शोकेस करने का प्लेटफॉर्म देती हूं।


ऐसी रोचक खबरों के लिए हमारे वॉट्स ऐप ग्रुप से जुडने के लिए क्लिक करें ।।

अदिती सेठी वर्क

आकांक्षा जैन वर्क 

 

 

Related Posts

Menu