गुरु पूर्णिमा के अवसर पर कार्यक्रमों के साथ किया अष्टानिका पर्व का समापन

label_importantसमाचार

न्यूज सौजन्य- सन्मति जैन,सनावद

सनावद। शहर के श्री दिगंबर जैन बड़ा मंदिर में आषाढ़ माह में अष्टानिका पर्व का समापन व गुरु पूर्णिमा के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों के साथ समापन किया गया। सन्मति जैन काका ने बताया बुधवार को गुरुपूर्णिमा व अष्टानिका पर्व के समापन पर सुबह से नित्य नियम अभिषेक, पूजन कर शुरुआत की गई। तत्पश्चात सभी भक्तों व समाजजनों ने वात्सल्य वारिधी नगर गौरव आचार्य 108 वर्धमान सागर महाराज का गुरु पूजन किया। दोपहर में श्री तेरह द्वीप मंडल विधान के पूजन का समापन सम्पूर्ण अर्घ चढा कर किया गया। वहीं अगली कड़ी में शाम को भव्य रूप से श्री जी व सनावद नगर के गौरव आचार्य श्री108 वर्धमान सागर जी महाराज की आरती व भक्ति, प्रदीप पंचोलिया, प्रशांत चौधरी,कमल केके ,सुदेश जटाले ,अंशुमा जैन,श्रुति सराफ, के द्वारा की गई । गुरुवार यानि आज श्रीजी को रथ में विराजमान कर नगर में भव्य जुलूस निकाला गया, जिसमें सभी पुरुष स्वेत वस्त्र व महिलाएं केसरिया वस्त्र में नज़र आए। रथ में श्रीजी को विराजमान करने का सौभाग्य सुधीर कुमार, ललित कुमार चौधरी परिवार को मिला। वही रथ के सारथी बनने का सौभाग्य मंजुला हेमचंद भूच परिवार को मिला। रथ यात्रा नगर भृमण कर के पुनः बड़ा मंदिर में समाप्त हुई, जहाँ श्री जी का पंचामृत अभिषेक प्रशांत जैन,रिंकेश जैन ,पंकज जटाले,व मनोज जैन ने किया।
इस दौरान हेमन्त काका, विशाल सराफ, हर्षित जैन,सुनील मास्टर साब,पवन धनोते, देवेंद्र काका,रजत जैन, महेंद्र मुंसी,सुनील पावणा, साधना खेड़े,अंजू पाटनी,दीपाली जैन,सरोज बाई,सहित सभी समाजजन उपस्थित रहे।

Related Posts

Menu