पुण्यहीन व्यक्ति नहीं पहुंच पाता प्रभु चरणों तकः मुनि सुधासागर जी

label_importantसमाचार
  • क्षेत्रपाल मंदिर मूलनायक वेदिका पर अभिषेक की मांगलिक क्रियाएं
  • मुनिश्री ने कहा, गलत आचरण में लिप्त रहने वालों का होता है पुण्य क्षीण

ललितपुर। स्थानीय क्षेत्रपाल मंदिर में धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए निर्यापक श्रमण मुनिपुंगव सुधासागर जी महाराज ने कहा है कि भगवान का अतिशय इतना तीव्र रहता है कि पुण्यहीन व्यक्ति प्रभु के चरणों तक नहीं पहुंच सकता। और न ही पाप का पैसा मंदिर के कार्य में चाहते हुए भी लग पाता है। व्यक्ति हिंसा, जुआ, मांसखेारी और गलत आचरण में लिप्त रहता है जिससे पुण्य क्षीण होता जाता है और देखते ही देखते ऐसे लोग कंगाल हो जाते हैं। यह उनके द्वारा पूर्व में किए गए अशुभ कर्म का परिणाम है।
मुनिश्री ने कहा कि जैन दर्शन हिंसा, चोरी, कुशील को पाप का कारण बताते हुए धर्म का मार्ग बताता है जिसको अपनाने से वर्तमान तो संवरता ही है, साथ ही असीम पुण्य का संचय भी होता है। गुरु से कपट करने पर दद्रिता बताई गई है, इसकी हानि से बचना चाहिए।

शनिवार प्रातःकाल क्षेत्रपाल मंदिर मूलनायक वेदिका पर अभिषेक की मांगलिक क्रियाएं हुईं। इसके उपरान्त शान्तिधारा मुनिश्री के मुखारविन्द से हुई। पादप्रक्षालन एवं दीपप्रज्जवलन कर पुर्ण्याजक परिवार एवं श्राविकाओं ने मुनि श्री को शास्त्र भेंट किया। धर्मसभा का संचालन महामंत्री डा. अक्षय टडैया ने किया। प्रातःकाल से मुनि संघ की भक्ति, पूजन, आहार चर्या, आचार्य भक्ति जिज्ञासा समाधान में शामिल होने के लिए श्रावकों की भीड़ उमड़ रही है। जिज्ञासा समाधान कार्यक्रम में ऑनलाइन जिज्ञासाएं मुनि पूज्यसागर महाराज के माध्यम से की जा रही हैं जिसका समाधान निर्यापक मुनि श्री द्वारा किया जा रहा है। कार्यक्रम का संचालन जैन पंचायत अध्यक्ष अनिल जैन अंचल एवं आलोक शास्त्री ने किया।

बडॉ मंदिर निर्माण कार्य को मिला मुनि श्री का आशीर्वाद


प्रातःकाल निर्यापक मुनि श्री सुधासागर महाराज क्षेत्रपाल मंदिर जी से महावीरपुरा स्थित आदिनाथ दिगम्बर जैन बड़ा मंदिर पहुंचे जहां श्रद्धालुओं ने आरती उतारकर उनका पाद प्रक्षालन किया। मुनि श्री ने नगर के अति प्राचीन जैन बडे़ मंदिर में आदिनाथ भगवान के सम्मुख दर्शन किए। उन्होंने बडे़ बाबा की महिमा बताते हुए कहा कि यहां बडे़ बाबा का अतिशय लेविल कई गुना है। अभिषेक के उपरान्त शान्तिधारा हुई जिसका पुर्ण्याजन अधिवक्ता कुशलचंद जैन, गौरव, सौरभ जैन बैद्य परिवार एवं राजेश जैन, रूपेश जैन -हजयोजिया परिवार ने किया। शान्तिधारा के उपरान्त मुनि श्री ने जैन बड़ा मंदिर में चल रहे निर्माण कार्यों को देखा और मार्गदर्शन कर आशीर्वाद प्रदान किया। इस मौके पर बड़ा मंदिर प्रबंधक अजित जैन गदयाना, अकलंक जैन, अजय जैन साइकिल, अविनाश सिंघई, अन्तिम पारौल, नरेन्द्र जैन छोटे पहलवान, मुकेश सराफ, संजीव जैन ममता, जिनेन्द्र जैन रजपुरा, महेन्द्र चौधरी आदि मौजूद रहे।

अन्नपूर्णा भोजनशाला मुनि श्री के आशीर्वाद से हुई पवित्र

जिला अस्पताल परिसर, ललितपुर में अन्नपूर्णा सेवा संघ द्वारा चलाई जा रही भोजनशाला में जगतपूज्य मुनि श्री सुधासागर महराज का आशीर्वाद संचालन कमेटी को मिला। अध्यक्ष अमित प्रिय जैन ने बताया अन्नपूर्णा सेवा संघ द्वारा 2016 से संचालित भोजनशाला में सुबह- शाम दोनों समय लगभग 800-900 लोगों को भोजन कराया जा रहा है। इसके अतिरिक्त अन्नपूर्णा आक्सीजन बैंक के माध्यम से जरूरतमंद लोगों को जहां निःशुल्क आक्सीजन दी जा रही है, वहीं मरीजों के लिए निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा के माध्यम से सुविधाएं प्रदान की जा रही है।

मुनिश्री की अगवानी वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया में शामिल

ललितपुर नगर में पिछले दिनों हुई भव्य नगर अगवानी वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया में दर्ज हुई है। कवरेज वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया की टीम ने ललितपुर पहुंचकर किया था। टीम ने देखा कि अब तक किसी संत की अगवानी में सबसे ज्यादा पुरुषों द्वारा सफेद वस्त्र एवं महिलाओं द्वारा केशरिया वस्त्र पहने गए थे। इतनी विशाल अगवानी को वर्ल्ड रिकार्ड इंडिया द्वारा रिकार्ड में शामिल किया गया है, जिसका प्रमाणपत्र दिया गया है। यह जानकारी अक्षय अलया व डॉ. सुनील संचय ललितपुर ने दी है।

Related Posts

Menu