श्रीमहावीरजी में 18 को आचार्य वर्धमान सागर जी का मंगल प्रवेश, देशभर से जुटेंगे श्रद्धालु

label_importantसमाचार

किशनगढ़ के समाज बंधुओं में भी श्री महावीरजी यात्रा के लिए उत्साह

न्यूज सौजन्य -गौरव पाटनी 

मदनगंज-किशनगढ़। श्री महावीरजी में आयोजित 21वीं सदी के प्रथम महामस्तकाभिषेक और देश का सबसे बड़े पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव होगा। वात्सल्य वारिधि 108 आचार्य वर्धमान सागर महाराज ससंघ के 18 जुलाई को मंगल प्रवेश जुलूस के लिए किशनगढ़ से सैकड़ों जैन समाज बंधु जाएंगे। श्री मुनिसुव्रतनाथ दिगम्बर जैन पंचायत की ओर से 17 जुलाई को श्रीमहावीर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए बसों की व्यवस्था की जाएगी। महोत्सव में देशभर से जैन समाज के लोग आएंगे।

आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज का मंगल प्रवेश

पंचायत अध्यक्ष विनोद पाटनी ने बताया कि महोत्सव में सान्निध्य प्राप्त करने के लिए निकले, आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज का 18 जुलाई को श्रीमहावीरजी में भव्य मंगल प्रवेश होगा। उन्होंने बताया कि आचार्य के अभिनंदन के लिए सवाईमाधोपुर से श्री महावीरजी तक 108 स्वागत द्वार बनाए हैं। इस दौरान समाजसेवी संजय पापड़ीवाल और राजकुमार दोसी ने बताया कि- भगवान महावीर स्वामी के भूगर्भ से प्रकटित अतिशयकारी प्रतिमा के 24 वर्षों बाद 21वीं सदी के प्रथम महामस्तकाभिषेक और देश के सबस बड़े पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव के चलते समाज के लोगों में उत्साह व्याप्त है।

विभिन्न व्यवस्थाओं में जुटे श्रद्धालु
महोत्सव में सान्निध्य प्रदान करने के लिए 8 माह में 1,600 किमी पद विहार कर आ रहे आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज ससंघ को शांति वीर नगर से प्रातः 11 बजे बैंडबाजों के साथ शोभायात्रा के रूप में श्रीमहावीर के मुख्य मंदिर में लाया जाएगा। प्रचार मंत्री गौरव पाटनी ने बताया कि- आचार्य श्री के मंगल प्रवेश के ऐतिहासिक पल के साक्षी बनने के लिए किशनगढ़ के आर के मार्बल परिवार के अशोक कुमार पाटनी, सुशीला पाटनी, सुरेश पाटनी के अलावा जयपुर, उदयपुर, पारसोला, भिंडर, सलूंबर, धरियाबाद, दौसा, सिकन्दरा, करौली, दिल्ली, अलवर, हिण्डौन, भरतपुर, कोटा, बूंदी, भवानीमंडी, सवाईमाधोपुर, गंगापुरसिटी सहित देशभर के विभिन्न क्षेत्रों से जैन समाज के हजारों लोग उमड़ेंगे। श्रीमहावीरजी में जैन समाज के पदाधिकारी विभिन्न व्यवस्थाओं में जुटे हुए है।

किशनगढ़ से 5 बसों से जाएंगे श्रद्धालु

श्रीमहावीरजी में आचार्य वर्धमान सागर के मंगल प्रवेश जुलूस में भाग लेने के लिए किशनगढ़ से रवीन्द्र रंगमंच से 4 बसें, इन्द्रानगर से 1 बस 17 जुलाई को सांय 7 बजे रवाना होगी। समाजसेवी कैलाश पाटनी ने बताया कि- किशनगढ़ से जाने वाली बसों में जैन समाज के लोगों ने पहले ही पंजीयन करवा लिया है। बसों के पुर्ण्याजक परिवार संजयकुमार, पुनीतकुमार पापड़ीवाल, महावीरप्रसाद, विनोद कुमार, कैलाशचंद पाटनी, विमलकुमार, महेन्द्रकुमार, समर्थ पाटनी, कैलाशचंद, संजय कुमार, मुकेश कुमार गंगवाल (लांम्बा वाले), कुसुम देवी, अजीत कुमार, रवि कुमार, राजकुमार बाकलीवाल (आशीर्वाद मोबाइल) परिवार होंगे।

 

 

 

Related Posts

Menu